प्रथम पेज प्रकाश माली भजन काशी रे नगर सु भेरू आया तो करी भजन लिरिक्स

काशी रे नगर सु भेरू आया तो करी भजन लिरिक्स

काशी रे नगर सु भेरू आया तो करी,
ओ भेरूजी आया तो करी,
सोनाला नगरी में दर्शन,
दीना तो करी ए हा।।



अरे खारक खोपरा थारे चाढु तो करी,

ओ भेरूजी चाढु तो करी,
दुर्बलियो देखने दर्शन,
देवीजो हरि ए हा,
अरे खारक खोपरा थारे चाढु तो करी,
ओ भेरूजी चाढु तो करी,
दुर्बलियो देखने दर्शन,
देवीजो हरि ए हा।।



राईका रे वेले भेरूजी आया तो करी,

बापजी आया तो करी,
घास मे घुमटीयो मे,
खाया तो करी ए हा,
राईका रे वेले भेरूजी आया तो करी,
बापजी आया तो करी,
घास मे घुमटीयो मे,
खाया तो करी ए हा।।



पुजारी री वेले भेरूजी आया तो करी,

ओ बापजी आया तो करी,
सोनाला नगरी में जगमग,
ज्योता तो जगी ए हा,
पुजारी री वेले भेरूजी आया तो करी,
ओ बापजी आया तो करी,
सोनाला नगरी में जगमग,
ज्योता तो जगी ए हा।।



भाकरी री धुवाडा मे बैठा तो करी,

भेरूजी बैठा तो करी,
ढोल ने नगाडा थारे,
नोपता घुरी ए हा,
भाकरी री धुवाडा मे बैठा तो करी,
भेरूजी बैठा तो करी,
ढोल ने नगाडा थारे,
नोपता घुरी ए हा।।



बांज्या री वेले भेरूजी आया तो करी,

ओ बापजी आया तो करी,
पालनो हिंडायो के,
किलकारियां करी ए हा,
बांज्या री वेले भेरूजी आया तो करी,
ओ बापजी आया तो करी,
पालनो हिंडायो के,
किलकारियां करी ए हा।।



अरे रमेश भगत रे वेले आया तो करी,

बापजी आया तो करी,
अर्जुन गावे भजन भाव सु,
आशा तो पुरी ए हा,
अरे रमेश भगत रे वेले आया तो करी,
बापजी आया तो करी,
अर्जुन गावे भजन भाव सु,
आशा तो पुरी ए हा।।



काशी रे नगर सु भेरू आया तो करी,

ओ भेरूजी आया तो करी,
सोनाला नगरी में दर्शन,
दीना तो करी ए हा।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।