कर दो दया दृष्टि सब पर भवानी भजन लिरिक्स

कर दो दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
आए शरण में,
हम दुःख से हारे,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।

तर्ज – श्री कृष्ण गोविन्द हरे।



हमको भरोसा है बस तुम्हारा,

संकट मिटा दो माँ तुम हमारा,
चिंतन करुँ मैं हरदम तुम्हारा,
सबसे पावन नाम तिहारा,
मुझपे करो माँ करुणा का साया,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।



तुम चिंतापूर्णि तुम चिंता हरती,

जो दर पे आए तुम झोली भरती,
मैं भी खड़ी हूं मां तेरे द्वारे,
अंखियां ये मेरी तुमको निहारे,
उपकार मुझ पर इतना मां कर,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।



तुम नैना देवी तुम ही मां ज्वाला,

नाम से तेरे जग में उजाला,
मेरे ह्रदय में ज्योति जगाओ,
अंधकार जीवन का तुम मिटाओ,
अपना मां दर्शन हमको दिखाओ,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।



चरणों में अपने मुझको बिठालो,

आंचल में अपने हमको छुपा लो,
अवगुण हमारे सारे विसारो,
मेरी ओर भी माँ अब निहारो,
दाती ये सागर तुझको पुकारे,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।



कर दो दया दृष्टि,

सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
आए शरण में,
हम दुःख से हारे,
हे मात मेरी हे मात मेरी,
कर दों दया दृष्टि,
सब पर भवानी,
हे मात मेरी हे मात मेरी।।



जय-जय अम्बे जय-जय अम्बे,

जय जगदम्बे जय जय अम्बे,
जय-जय अम्बे जय-जय अम्बे,
जय जगदम्बे जय जय अम्बे।।

Singer – Sagar Sawariya & Bhawna Gupta