जीवन का आधार है मेरी राधा जी भजन लिरिक्स

जीवन का आधार है मेरी राधा जी भजन लिरिक्स

जीवन का आधार है मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी,
आगे पीछे डोले जिसके बनवारी,
सब ग्रंथो का सार है मेरी राधा जी,
जींवन का आधार हैं मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी।।

तर्ज – काली कमली वाला।



जो श्री राधा जपे किरपा वही पाए,

श्याम के मिलने से कोई रोक ना पाए,
ऐसी लखदातार है मेरी राधा जी,
सब ग्रंथो का सार है मेरी राधा जी,
जींवन का आधार हैं मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी।।



जो भी सच्चे दिल से गाता है श्री राधे,

भवसागर से पार कर देंगी मेरी राधे,
भक्ति का अवतार मेरी राधा जी,
सब ग्रंथो का सार है मेरी राधा जी,
जींवन का आधार हैं मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी।।



आ गया दरबार जो लौटा नहीं खाली,

आशाए पूरी करे वृषभान की लाली,
सपना है साकार है मेरी राधा जी,
सब ग्रंथो का सार है मेरी राधा जी,
जींवन का आधार हैं मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी।।



जीवन का आधार है मेरी राधा जी,

करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी,
आगे पीछे डोले जिसके बनवारी,
सब ग्रंथो का सार है मेरी राधा जी,
जींवन का आधार हैं मेरी राधा जी,
करुणामयी सरकार है मेरी राधा जी।।

स्वर – मेघा गर्ग।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें