प्रथम पेज राधा-मीराबाई भजन कान्हा तेरी जोहत रह गयी बाट भजन लिरिक्स

कान्हा तेरी जोहत रह गयी बाट भजन लिरिक्स

कान्हा तेरी जोहत रह गयी बाट,
जोहत रह गई बाट।।



जोहत जोहत इक पग ठाड़ी,

जोहत जोहत इक पग ठाड़ी,
कालिंदी के घाट,
कान्हा तोरी जोहत रह गयी बाट,
जोहत रह गई बाट।।



झूठी प्रीत करी मनमोहन,

झूठी प्रीत करी मनमोहन,
या कपटी की बात,
कान्हा तोरी जोहत रह गयी बाट,
जोहत रह गई बाट।।



मीरा के प्रभु गिरधर नागर,

मीरा के प्रभु गिरधर नागर,
दे गयो ब्रज को चात,
कान्हा तोरी जोहत रह गयी बाट,
जोहत रह गई बाट।।



कान्हा तेरी जोहत रह गयी बाट,

जोहत रह गई बाट।।

Upload By – Varsha Rathod


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।