प्रथम पेज गुरुदेव भजन हे गुरुदेव दया के सागर दया करो सरकार लिरिक्स

हे गुरुदेव दया के सागर दया करो सरकार लिरिक्स

हे गुरुदेव दया के सागर,
दया करो सरकार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।

तर्ज – बार बार तोहे क्या समझाए।



दृष्टि दया री थां री हो,

जद पार पड़ै,
दुखिया सब संसार,
दैख कै जीव डरै,
दीन दुखी ऐं सेवकियै री,
सुणल्यो करुण पुकार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।



मैं निर्बल थे सबल,

भगत हो पूंच्येड़ा,
जै थे थामो हाथ,
पार लगै बेड़ा,
बाबाजी सूं सल्लाह करकै,
करो मेरो उद्धार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।



छल-फरेब ई दुनिया रा,

मैं के जाणूं,
थां रै चरणां माय,
सदा मस्ती छांणू,
आगै-लारै थे ही म्हां रै,
जीवण़ रा आधार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।



सामरथां नै शरम,

काम मेरो करणो है,
उदयाळै मं आंख्या,
हो गई झरणो है,
श्यामबहादुर ‘शिव’ दर्दी रा,
संकट दीज्यो टार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।



हे गुरुदेव दया के सागर,

दया करो सरकार,
थां रै बिना मेरो,
कोई ना पालनहार।।

Singer – Manish Ji Sharma
Upload By – Vivek Agarwal Ji


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।