जिस पल भी राधे भूलूँ मैं तुमको भजन लिरिक्स

जिस पल भी राधे,
भूलूँ मैं तुमको,
मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।

तर्ज – तुम्ही मेरे मंदिर।



तेरा ही भरोसा,

तेरा ही सहारा,
तेरी बंदगी में ही,
जीवन गुजारा,
तेरे सिवा ना पूजा किसी को,
तेरे सिवा ना पूजा किसी को,
मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।



जब जब लगा हूँ,

गिरने मैं श्यामा,
बांह पकड़ कर,
तुमने ही थामा,
तूने संभाला हरपल है मुझको,
तूने संभाला हरपल है मुझको,
मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।



तेरा नाम ही बस,

रटती है सांसे,
हर पल निहारे,
तुमको ही आँखे,
लगन ये तुम्हारी कम ना कभी हो,
लगन ये तुम्हारी कम ना कभी हो,
मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।



‘सोनू’ ये दिल की,

चाहत है मेरी,
दम निकले मेरा तो,
चौखट पे तेरी,
मेरे सामने राधे तेरी छवि हो,
मेरे सामने राधे तेरी छवि हो,
Bhajan Diary,

मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।



जिस पल भी राधे,

भूलूँ मैं तुमको,
मेरी जिंदगी की वो,
अंतिम घड़ी हो।।

स्वर – राजू मेहरा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें