जप ले हरी का नाम मेरे मन भजन लिरिक्स

जप ले हरी का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम,
काहे भुलियो गोविन्द धाम,
काहे भुलियो गोविन्द धाम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।



काम ना आएगी झूठी माया,

ना तेरा मंदिर ना तेरी काया,
आएगी एक दिन जीवन की शाम,
आएगी एक दिन जीवन की शाम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।



कठिन डगरिया तू चलना ना जाने,

बात पते की काहे ना माने,
जपले कन्हैया तू चाहे घनश्याम,
जपले कन्हैया तू चाहे घनश्याम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।



माटी के पुतले उसके खिलोने,

बैठ जहाँ में तू ना रो रोने,
सांसे ना जाये कही सस्ते दाम,
सांसे ना जाये कही सस्ते दाम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।



तन में बसा ले मन में बसा ले,

तेरा प्रीतम उसको पा ले,
बोल प्यारे संग जय श्री राम,
बोल प्यारे संग जय श्री राम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।



जप ले हरी का नाम,

मेरे मन जप ले हरी का नाम,
काहे भुलियो गोविन्द धाम,
काहे भुलियो गोविन्द धाम,
जप ले हरि का नाम,
मेरे मन जप ले हरी का नाम।।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें