जांबा और जांगलु माही भरिया रे नाडिया भजन लिरिक्स

जांबा और जांगलु माही भरिया रे नाडिया,
मोतीड़ा चुगता हंसा ने निरखण चालो सा।।



मैं म्हारा साथीडा़ जावां ला जांगलु,

जाम्भोजी रे चोले रा दर्शन पांवाला।।



गांव जाम्बा माही जाम्भोजी रो मन्दिर,

संतो भक्तो रा आपा दर्शन पावाला।।



जिग मिग जिग मिग ज्योत जगे है,

जोती माही जाम्भोजी रा दर्शन पांवाला।।



भक्त राकेश थारी महिमा गावे,

थारी कृपा से थारा गुण गावे।।



जांबा और जांगलु माही भरिया रे नाडिया,

मोतीड़ा चुगता हंसा ने निरखण चालो सा।।

गायक / प्रेषक – राकेश लटियाल।
8003527393


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें