वेगो रे वेगो आईजे रे कानुडा थारी मथुरा में लिरिक्स

वेगो रे वेगो आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरे कई अडीयो रे,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



बाग लगाया रे कानुडा थारे कारणे,

बाग लगाया रे कानुडा थारे कारणे,
कोई घूमन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
कोई घूमन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
वेगों रे वेगों आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



भोजन बनाया रे कानुडा थारे कारणे,

भोजन बनाया रे कानुडा थारे कारणे,
कोई जीमन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
कोई जीमन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
वेगों रे वेगों आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



झूला लगाया रे कानुडा थारे कारणे,

झूला लगाया रे कानुडा थारे कारणे,
कोई झूलन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
कोई झूलन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
वेगों रे वेगों आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



होध भराया रे कानुडा थारे कारणे,

होध भराया रे कानुडा थारे कारणे,
कोई नावन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
कोई नावन रे मिस आव,
इतोरो कई अडीयो रे,
वेगों रे वेगों आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



चन्द्र सखी री रे कानुडा सुनजो विनती,

चन्द्र सखी री रे कानुडा सुनजो विनती,
माने भवजल करदो पार,
इतोरो कई अडीयो रे,
माने भवजल करदो पार,
इतोरो कई अडीयो रे,
वेगों रे वेगों आईजे रे,
कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।



वेगो रे वेगो आईजे रे,

कानुडा थारी मथुरा में,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरे कई अडीयो रे,
थारी राधा जोवे बाट,
इतोरो कई अडीयो रे।।

स्वर – सरिता जी खारवाल।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें