प्रथम पेज फिल्मी तर्ज भजन जागो बजरंगी अब हमपर उपकार कीजिये भजन लिरिक्स

जागो बजरंगी अब हमपर उपकार कीजिये भजन लिरिक्स

जागो बजरंगी अब हमपर उपकार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।

तर्ज – दिल दीवाने का डोला।



सुग्रीव ने आज्ञा कर दी,

जाकर सिया खोज के लाना,
बिन खोज खबर यदि आए,
मत हमको मुँह दिखलाना,
बिन खोज गति क्या होगी,
तुम विचार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।



सब हार गया है कपि दल,

छाई है निराशा भारी,
अब लाज बचाओ बजरंग,
है आशा एक तुम्हारी,
बन दीनदयाल हमपर,
दया अपार कीजिए,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।



क्या सोच रहे हो मन में,

शक्ति अपार तेरे तन में,
अब राम सुमिर कर उठो वीर,
शक्ति है बड़ी सुमिरन में,
दुष्टों का कलेजा कांपे,
वो हुंकार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।



चल पड़े सिया सुध लाने,

कपि दल में खुशियां छाई,
‘मातृदत्त श्याम सुन्दर’ मिलकर,
बजरंग की महिमा गाई,
भक्तो में भक्त शिरोमणि का,
जयकार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।



जागो बजरंगी अब हमपर उपकार कीजिये,

है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये,
है पड़ी भंवर में नैया बेड़ा पार कीजिये।।

Singer : Rajnish Sharma


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।