होयो प्रभात ढल आई मांजल रात सहेलियां सूती जागो ऐ

होयो प्रभात ढल आई मांजल रात,
सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।



रामैयरी ओलू आवे रे,

माने नीदड़ली सतावे,
मारो हियो हिलोणा खावे रे हा,
होयों प्रभात,
होयों प्रभात ढल आई मांजल रात,
सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।



रमैयरी पायल बाजे रे,

मारी नींदडली उठ भागी,
अब चिड़िया शोर मचायो रे,
होयों प्रभात,
होयों प्रभात ढल आई मांजल रात,
सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।



रट राम नाम की माला रे,

थारे घट का खुलजा ताला,
कुए पर माली बोलो रे,
होयों प्रभात,
होयों प्रभात ढल आई मांजल रात,
सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।



उगा देवपुरी भगवाना रे,

ओ दीप करे मन माना,
मन अच्छा लागे गाना रे हा,
कत गवे भानीनाथ हां,
होयों प्रभात,
होयों प्रभात ढल आई मांजल रात,
सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।



होयो प्रभात ढल आई मांजल रात,

सहेलियां सूती जागो ऐ हां,
होयों प्रभात,
मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां,
होयों प्रभात।।

प्रेषक – सुभाष सारस्वा काकड़ा
9024909170


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

वारि ओ गुरुदेव आपने बलिहारी राजस्थानी भजन लिरिक्स

वारि ओ गुरुदेव आपने बलिहारी राजस्थानी भजन लिरिक्स

वारि ओ गुरुदेव आपने बलिहारी, भवजल डूबत तारियो रे, म्हारा सतगुरु लियो रे उबारी, आप नी वेता जगत में तो, कुण करता म्हारी सहाई, वारि ओ गुरुदेव आपने बलिहारी।। असंग…

मैं तो आया हो थारे दरबार खेतेश्वर भजन लिरिक्स

मैं तो आया हो थारे दरबार खेतेश्वर भजन लिरिक्स

मैं तो आया हो थारे दरबार, हो दाता थोरी तो महिमा अपार, जय हो खेतेश्वर, थारी जय हो खेतेश्वर।। पिता शेरसिंहजी पाया, माता शिण्गारी हुलराया, ओ लिनो लिनो ओ बर्म्हअवतार,…

भोमिया जी सरदार म्हारा राठोड़ी सिरदार घुड़ले रे घमके आइजो

भोमिया जी सरदार म्हारा राठोड़ी सिरदार

भोमिया जी सरदार, म्हारा राठोड़ी सिरदार, घुड़ले रे घमके आइजो, म्हारा राठोड़ी सरदार।। अरे चौथ चॉंदनी आई, माण्डा में मेलो भारी, मेला में बेगा आइजो जी, रतनसिंह सरदार, घुड़ले रे…

रात सूतो ने सपनो आयो माजीसा भजन लिरिक्स

रात सूतो ने सपनो आयो माजीसा भजन लिरिक्स

रात सूतो ने सपनो आयो, हिचकी आ सतावे, जसोल वाली माजीसा, मने आपरी याद सतावे, जसोल वाली भटियानी माँ, मने आपरी याद सतावे।। माथा में मुकुट पेर भवानी, रतड़ी रत्न…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे