प्रथम पेज हनुमान भजन होती तेरी मर्जी है ऐ मेरे बालाजी भजन लिरिक्स

होती तेरी मर्जी है ऐ मेरे बालाजी भजन लिरिक्स

होती तेरी मर्जी है,

श्लोक – सरस्वती ने स्वर दिया,
गुरु ने दिनों ज्ञान,
मात पिता ने जन्म दिया,
कर्म लिखे भगवान।



होती तेरी मर्जी है,

ऐ मेरे बालाजी,
तब लगती अर्जी है,
ऐ मेरे बालाजी,
तब लगती अर्जी है।।

तर्ज – ये मेरी अर्जी है।



श्रीराम दीवाना है,

कहता है सारा जग,
प्रभु राम ने माना है।।



बना सबका सहारा है,

ऐ मेरे बालाजी,
मैंने दिल में उतारा है।।



आया जो भी सवाली है,

काटे हर संकट,
जाता नहीं खाली है।।



बाबा राम दुलारा है,

माता सीता को,
लगता बड़ा प्यारा है।।



‘नयना’ जग की सताई है,

सारे दर छोड़कर,
‘नयना’ दर तेरे आई है।।



‘रतन’ प्रेम का भूखा है,

चलो मेहंदीपुर,
दरबार अनोखा है।।



होती तेरी मर्ज़ी है,

ऐ मेरे बालाजी,
तब लगती अर्जी है,
ऐ मेरे बालाजी,
तब लगती अर्जी है।।

गायिका – नयना किंकर।
गीतकार – रतन किंकर।
9919262226


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।