गोविंद मेरो है गोपाल मेरो है भजन लिरिक्स

गोविंद मेरो है गोपाल मेरो है,

दोहा – क्या छवि सांवरे प्रीतम की,
मन जात चला हटके हटके
मुखचन्द्र छटा पे बलिहारी,
शत चंद्र फिरे भटके भटके।
बनमाल की सुन्दर लटकन पे,
ऋतुराज रहे लटके लटके,
अधरामृत प्याला छलका दो प्यारे,
हम पीया करे गटके गटके।



गोविंद मेरो है गोपाल मेरो है,

जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।



जाके सिर पे मुकुट विराजे,

कानन में कुंडल छवि साजे,
चंदा सा मुखड़ा ये गोपाल मेरो है,
गोविंद मेरो हैं गोपाल मेरो हैं,
जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।



कजरारी अखियां मन मोहे,

अलकावली कपोलन सोहे,
बोलत वचन रसाल मेरो है,
गोविंद मेरो हैं गोपाल मेरो हैं,
जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।



मुरली अधर धरे बनवारी,

बाजूबंद भुजन छवि न्यारी,
बंसी बजैया गोपाल मेरो है,
गोविंद मेरो हैं गोपाल मेरो हैं,
जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।



चरनन में नूपुर झनकारी,

नंद जसोदा अजीर बिहारी,
दीनन पर सदा ये दयाल मेरो है,
गोविंद मेरो हैं गोपाल मेरो हैं,
जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।



गोविंद मेरो हैं गोपाल मेरो हैं,

जय जय बांके बिहारी नंदलाल मेरो है।।

स्वर – श्री गोविन्द भार्गव जी।
प्रेषक – ऋषि विजयवर्गीय।
7000073009


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ऐ मेरे श्याम धणी तेरी किरपा है घणी भजन लिरिक्स

ऐ मेरे श्याम धणी तेरी किरपा है घणी भजन लिरिक्स

ऐ मेरे श्याम धणी, तेरी किरपा है घणी, तेरी किरपा से बनी, जिंदगी आसान, तेरा अहसान, मेरे श्याम मेरे श्याम, ऐ मेरे श्याम धनी, तेरी किरपा है घणी।। तर्ज –…

मैं जबसे जुड़ा हूँ चौखट से तेरी श्याम भजन लिरिक्स

मैं जबसे जुड़ा हूँ चौखट से तेरी श्याम भजन लिरिक्स

मैं जबसे जुड़ा हूँ चौखट से तेरी, ये दुनिया मुझे श्याम भाती नहीं है, तुम्हे पाके जाना ये मैंने कन्हैया, सिवा आपके कोई साथी नहीं है, मैं जबसे जुड़ा हूं…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे