दुनिया का बन कर देख लिया कान्हा का बन कर देख जरा

दुनिया का बन कर देख लिया कान्हा का बन कर देख जरा

दुनिया का बन कर देख लिया,
कान्हा का बन कर देख जरा।

दुनिया का बन कर देख लिया,
कान्हा का बन कर देख जरा।

हरी नाम में कितनी शक्ति है,
इस राह पर चल कर देख जरा॥



हरी नाम में कितनी शक्ति है,
यह पूछो प्रेम दीवानों से,

इस प्रेम के प्याले को प्राणी,
एक बार तो पी कर जरा॥
दुनिया का बनकर देख लिया,
कान्हा का बन कर देख जरा।

हरी नाम में कितनी शक्ति है,
इस राह पर चल कर देख जरा॥



दुनिया के चक्कर में पड़ कर,
कई जनम युँही बर्बाद किये।

अब शरण में कान्हा की आ कर,
तू नाम सुमीर कर देख जरा॥
दुनिया का बनकर देख लिया,
कान्हा का बन कर देख जरा।
हरी नाम में कितनी शक्ति है,
इस राह पर चल कर देख जरा॥॥



जो भक्ति मार्ग पर चलते हैं,
वो जग में अमर हो जाते हैं।

ये प्यार हे मेरे कान्हा का,
तू नींद से जग कर देख जरा॥
दुनिया का बन कर देख लिया,
कान्हा का बन कर देख जरा।
हरी नाम में कितनी शक्ति है,
इस राह पर चल कर देख जरा॥॥


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें