देखा है पहली बार मोहन की आँखों में प्यार भजन लिरिक्स

देखा है पहली बार,
मोहन की आँखों में प्यार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार,
कृष्णा तुझे मिलने को,
कबसे थी मैं बेकरार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार,
देखा हैं पहली बार,
मोहन की आँखों में प्यार।।

तर्ज – देखा हैं पहली बार।



पलकें झुकाऊं,

तुझे दिल में बसाऊं,
अब कृष्णा बिना मैं,
कहीं चैन ना पाऊँ,
कृष्णा जिगर है,
कृष्णा नज़र है,
कृष्णा है आरज़ू,
कृष्णा तू हमसफ़र है,
देखा हैं पहली बार,
मोहन की आँखों में प्यार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार।।



मेरी अदाए,

ये मेरी कहानी,
श्याम के ही लिए है,
ये मेरी जिंदगानी,
श्याम तू गजल है,
श्याम तू तराना,
अब मेरी धडकनो पे,
कृष्णा तेरा फसाना,
देखा हैं पहली बार,
मोहन की आँखों में प्यार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार।।



देखा है पहली बार,

मोहन की आँखों में प्यार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार,
कृष्णा तुझे मिलने को,
कबसे थी मैं बेकरार,
अब जाके आया मेरे,
बेचैन दिल को करार,
देखा हैं पहली बार,
मोहन की आँखों में प्यार।।

गायक – मुकेश कुमार जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें