ओ सांवरे मेरी सुध लेना कृष्ण भजन लिरिक्स

ओ सांवरे मेरी सुध लेना,
मैं तंग आ गया हूँ मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ मेरी सुध लेना,
तेरे दर पर आया,
मैंने शीश झुकाया,
अब विनती मेरी सुन लेना,
मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ,
मेरी सुध लेना।।

तर्ज – ओ राम जी बड़ा दुःख।



खाटू की गालियां लगती प्यारी,

अब तो आओ श्याम मुरारी,
अब तो आओ कृष्ण मुरारी,
मुझे नींद ना आए,
मुझे चैन ना आए,
मेरा मुश्किल हो गया जीना,
मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ,
मेरी सुध लेना।।



मेरे दुखड़े मेरे सपने

पूरे करो बाबा,
द्वार पे अपने,
तुम हारे के सहारे,
बाबा श्याम हमारे,
ये अर्ज़ी मेरी सुन लेना,
मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ,
मेरी सुध लेना।।



सुन लो मेरी खाटू वाले,

मेरी विनती पालनहारे,
तेरा ‘विनि’ दीवाना,
अब हो गया प्यारे,
अब झोली मेरी भर देना,
मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ,
मेरी सुध लेना।।



ओ सांवरे मेरी सुध लेना,

मैं तंग आ गया हूँ मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ मेरी सुध लेना,
तेरे दर पर आया,
मैंने शीश झुकाया,
अब विनती मेरी सुन लेना,
मेरी सुध लेना,
मैं दर आ गया हूँ,
मेरी सुध लेना।।

Singer – Vini Devda


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें