दे दे बाबा मुझको ये वर सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर लिरिक्स

दे दे बाबा मुझको ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
जीवन ये बीते शरण में तेरी,
छूटे कभी ना ये तेरी डगर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।

तर्ज – तेरा मेरा साथ अमर।



हम भले बुरे सही,

हम शरण है आपकी,
बस लगी लगन हमें,
इक तुम्हारे नाम की,
जागा नसीबा मिला है ये दर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।



आपकी दया बिना,

जिंदगी बेकार है,
सुन रहा है तू मेरी,
ये तो तेरा प्यार है,
प्रेमी की तू करता कदर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।



मिल गई शरण तेरी,

ये तेरी सौगात है,
तू हमेशा साथ है,
सर पे तेरा हाथ है,
रखना सदा तू दया की नजर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।



आपकी लगन मुझे,

ये असर दिखा रही,
प्रेमियों से आपके,
नीत मुझे मिला रही,
तू ही तू है देखो जिधर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।



दे दे बाबा मुझको ये वर,

सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर,
जीवन ये बीते शरण में तेरी,
छूटे कभी ना ये तेरी डगर,
दे दे बाबा मुझकों ये वर,
सेवा तुम्हारी करूँ उम्र भर।।

Singer – Tara Devi


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें