चौसठ जोगनीया ए अरजी सुनजो म्हारी माँ भजन लिरिक्स

चौसठ जोगनीया ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ,
सुनजो म्हारी माँ,
विनती सुनजो म्हारी माँ.
सुनजो म्हारी माँ,
विनती सुनजो म्हारी माँ,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।

तर्ज – देवलिये रम जाए।



ए महामाया जोग समाया,

अद्भुत रूप बनाया,
ए महामाया जोग समाया,
अद्भुत रूप बनाया,
अद्भुत रूप बनाया जोगनीया,
अद्भुत रूप बनाया,
अद्भुत रूप बनाया जोगनीया,
अद्भुत रूप बनाया,
दानव दल संगारे माता,
दानव दल संगारे माता,
जग में नाम पुजाया,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।



पर्वत नीचे राजे भवानी,

बड़ निम्बड की छाया,
पर्वत नीेचे राजे भवानी,
बड़ निम्बड की छाया,
बड़ निम्बड की छाया जोगनीया,
बड़ निम्बड की छाया,
अचनावु देवलीया माई,
अचनावु देवलीया माई,
केई रूप बनाया,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।



सतीया सामे दृष्टि आपकी,

घणा यात्री आवे,
सतीया सामे दृष्टि आपकी,
घणा यात्री आवे,
घणा यात्री आवे जोगनीया,
घणा यात्री आवे,
दुख दारी दर दूर करे माँ,
दुख दारी दर दूर करे,
कंचन करदे काया,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।



आधी शक्ति आगे नाचे,

चौसठ जोगनीया,
आधी शक्ति आगे नाचे,
चौसठ जोगनीया,
चौसठ जोगनीया नाचे,
चौसठ जोगनीया,
डमरू बजावत भेरू नाचे,
डमरू बजावत भेरू नाचे,
सकल जगत महामाया,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।



नानु पंडित मांगे चरना,

बार बार यश गावे,
नानु पंडित मांगे चरना,
बार बार यश गावे,
बार बार यश गावे जोगनीया,
बार बार यश गावे,
माताजी री महिमा देखो,
माताजी री महिमा देखो,
हाजिर परचा पाया,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।



चौसठ जोगनीया ए अरजी,

सुनजो म्हारी माँ,
सुनजो म्हारी माँ,
विनती सुनजो म्हारी माँ.
सुनजो म्हारी माँ,
विनती सुनजो म्हारी माँ,
लजीया राखजो ए अरजी,
सुनजो म्हारी माँ।।

गायक – मोईनुद्दीन जी मनचला।
प्रेषक – मनीष सीरवी।
(रायपुर जिला पाली राजस्थान)
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

बीरा रामदेव हो बीरा म्हाने एक बार लेवण आए

बीरा रामदेव हो बीरा म्हाने एक बार लेवण आए

बीरा रामदेव हो बीरा म्हाने, एक बार लेवण आए, अरे अलगो गणो सासरो रे, बीरा म्हाने माता मिलण रो छावनी, बीरा म्हारा रामदेव रे, जामण जाया एक बार लेवण आए।।…

पिछम धरा रा राज वीरा जग में परचा भारी रामदेवजी भजन

पिछम धरा रा राज वीरा जग में परचा भारी रामदेवजी भजन

पिछम धरा रा राज वीरा, जग में परचा भारी, घोड़ले रे घमको आवो जी, म्हारा पचरंग नेजा धारी, पिछम धरा रा राज वीरा, जग में परचा भारी।। भालो सोवे सोवणो,…

सतगुरू मिल्या संशय टलिया हुआ जगत से न्यारा

सतगुरू मिल्या संशय टलिया हुआ जगत से न्यारा

सतगुरू मिल्या संशय टलिया, हुआ जगत से न्यारा। दोहा – नमस्कार गुरू देव ने, नमस्कार सब संत, नमस्कार परब्रम्ह ने, नमस्कार जीव जंत। सतगुरू मिल्या संशय टलिया, हुआ जगत से…

आतो खेड़ा वाली नगरी माने घणी रूपाली लग री

आतो खेड़ा वाली नगरी माने घणी रूपाली लग री

आतो खेड़ा वाली नगरी, माने घणी रूपाली लग री, आतो खेडा वाली नगरी, माने घणी रूपाली लग री, रामदेव परचा देवे, पीरजी दर्शन देवे, रामदेव परचा देवे, पीरजी दुख हर…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे