मोरा सासुजी समदरियो हिलोला खाये राजस्थानी गीत लिरिक्स

मोरा सासुजी आयो आयो जेठ ने आसाड,
मोरा सासुजी मारे रे सरीखी माटी नोखे,
मोरा सासुजी थे को वो तो मेही माटी नोखो,
मोरा सासुजी समदरियो हिलोला खाये,
मोरा सासुजी भादवो हिलोला खाये।।



मारा ववारु इनो रा पिवरिया नेडा नेडा,
मारा ववारु थोरा पिपरिया घणा दूर,
मारा ववारु समन्दियो हिलोला खाये,
मारा ववारु भादवो जखोला खाये।।



मारा सासु जी कागदिया लिख भेजो 2 ने 4,

मारा सासु जी जटखे बुलावो मारो वीर,
मारा सासुजी समन्दिरों यो हिलाला खाये,
मारा सासुजी भादवो जखोला खाये।।



मारा ववारु आयो-२ सावन ने भादवो,

मारा ववारु कोनी आयो जोमन जायो वीर,
मारा ववारु भादवो हिलाला खाये,
मारा ववारु समन्दियो जखोला खाये।।



मोरा सासुजी देरोनी जेठानी मैना बोले,

मोरा सासुजी कोनी आयो जोमन जायो वीर,
मोरा सासुजी जीवड़ो जखोला खाये,
मोरा सासुजी मनड़ो हिलोला खाये।।



मोरा ववारु लिदो तोम्बा रो बेड़ो हाथ,

मोरा ववारु गया सावरिया वाली पाल,
मारा ववारु कोनी मलियो धर्म रो वीर,
मारा ववारु भादवो हिलोला खाये,
मारा ववारु समन्द्रियों जखोला खाये।।



मोरा बाईसा वेगा रे बुलाया मोड़ो वेगियो,

मोरा बाईसा चुंनडियो लायो ने बारे आवो,
मोरा बाईसा समन्द्रियों हिलोला खाये,
मोरा बाईसा भादवो जखोला खाये।।



मोरा सासुजी आयो आयो जेठ ने आसाड,

मोरा सासुजी मारे रे सरीखी माटी नोखे,
मोरा सासुजी थे को वो तो मेही माटी नोखो,
मोरा सासुजी समदरियो हिलोला खाये,
मोरा सासुजी भादवो हिलोला खाये।।

Singer – Geeta Goswami


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

तेजाजी परणिजे रे धोल्यो जाट परणिजे भजन लिरिक्स

तेजाजी परणिजे रे धोल्यो जाट परणिजे भजन लिरिक्स

तेजाजी परणिजे रे, धोल्यो जाट परणिजे। दोहा – लीलण घोड़ी सोवणी, और सापो पलकादार, बिंद बण्या है तेजाजी, थे गावों मंगलाचार। जाटा में तेजा हुयो, और दूजो धनू जाट, तीजे…

ॐ जय अजमल लाला रामदेवजी आरती लिरिक्स

ॐ जय अजमल लाला रामदेवजी आरती लिरिक्स

ॐ जय अजमल लाला, प्रभू जय अजमल लाला, भक्त काज कलयुग में, लीनो अवतारा, ॐ जय अजमल लाला।। अश्वन की असवारी सोहे, केशरिया जामा, शीश तुर्रो हद सोहे, हाथ में…

भजना में जावा कोणी दे हाछी परणाई नुगरा माल ने ओ म्हारा राम

भजना में जावा कोणी दे हाछी परणाई नुगरा माल ने ओ म्हारा राम

भजना में जावा कोणी दे, हाछी परणाई नुगरा, माल ने ओ म्हारा राम, हाछी परणाई रावल, माल ने ओ म्हारा राम।। किउ नही किणी वन री, रोजड़ी ओ म्हारा राम,…

आधी रात ने बजावे कान्हो बंसी ने राजस्थानी भजन

आधी रात ने बजावे कान्हा बंसी ने राजस्थानी भजन

आधी रात ने बजावे कान्हो बंसी ने, सोवे ना सोवादे प्यारी गुजरा ने।। वृन्दावन बंसी बजी, और मोह्या तीनो लोक, मोबा में आया नहीं, तो रिया कोण सा लोक। आधी…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे