भंवर गुफा में बिराजीया जोगी जलान्दर नाथ

भंवर गुफा में बिराजीया,
जोगी जलान्दर नाथ,
अरे केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।



अरे पेरन घडावु अमे पेरीया,

सत्त रो फुटो हाट,
अरे पेरन घडावु अमे पेरीया,
सत्त रो फुटो हाट,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ,
केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।



काना मे कुण्डल झिलमिले,

अरे कानो में कुण्डल झिलमिले,
हिरला तपे ललाड,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ,
केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।



अरे भंवर गुफा मे बिराजीया,

सिरे मन्दिर में बिराजीया,
जोगी जलान्दर नाथ,
मारा पीर शांतिनाथ,
ए दुनिया दर्शन आवती,
गुरू चरनो रे माय,
केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।



अरे खवाराजा री विनती,

सेवक चरनो रे माय,
थोरा टाबर चरनो माय,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ,
केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।



भंवर गुफा में बिराजीया,

जोगी जलान्दर नाथ,
अरे केसर नान्दीयो संग चढे,
अमिया पार्वता नार,
ए वले वले करू विनती,
जागो झाडी रा नाथ जी ओ जी ए हा।।

गायक – महेंद्रसिंह जी राठौड़।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें