घायल हो गया रे शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे लिरिक्स

घायल हो गया रे,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।

दोहा – माटी कितना दुख सहा,
गई कुमार के पास,
ठोकी पीटी लातो से,
जल सरकंडे घास।
जल सरकंडे घास,
पकी जब बाहर आई,
लेवत है नर नार,
उसे फिर ठोक बजाई।
इतने दुख को सहन कर,
फिर चढ़ी रुद्र के शीश,
परमानंद भक्ति कठिन है,
जब पावे जगदीश।

गुरु मिलिया गंभीर,
भरम सब भागिया,
गल में गुदड घाल,
मुल्क सब त्यागीया।
लिया ठीकरा हाथ,
भोग सब बिसरिया,
अरे हा बाजींद सुन सतगुरु की सीख,
जोग ले निसरिया।



घायल हो गया रे,

शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



गुरु गोरखनाथ की शब्द चोट,

जब लागी भारी रे,
भूप भरतरी राजपाट के,
तब ठोकर मारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



माता मैणावत शब्द चोट,

ऐसी झण कारी रे,
छोड़ विरासत जब गोपीचंद,
भयों भिखारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



बांदी की सुण बात बादशाह,

खूब विचारी रे,
मुल्क बुखारा छोड़ गयो,
धन माया सारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



लागी नार वचन कि जब तुलसी के,

चोट करारी रे,
एक पलक में प्रीत जगत की,
हो गई खारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



लगी गुरु दादू की चोट,

फकीरी ऐसी धारी रे,
रज्जब मोड धर्यो गुरु चरणा,
रवो ब्रह्मचारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



लगी गुरु चेतन भारती की चोट,

किया मेरा जन्म सुधारी रे,
कहे पूरण भारती मिले कोई घायल,
तो जाऊं बलिहारी रे,
घायल हो गया रें,
शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।



घायल हो गया रें,

शब्दा की लागी ज्ञान कटारी रे।।

गायक – पूरण भारती जी महाराज।
Upload By – Aditya Jatav
8824030646


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

राम गुण ऐसे गाणा रे लादुनाथ जी महाराज की वाणी

राम गुण ऐसे गाणा रे लादुनाथ जी महाराज की वाणी

राम गुण ऐसे गाणा रे, दोहा – नाथ उन्ही को जानिये, नाथे पांचों भूत, श्री लादुनाथ मन नाथ के, जोगी बणे अवधूत। गाँव मंसूरी धाम, धर्म का धोरा लाग्या, प्रगटे…

वाह रे म्हारा बालाजी तूने लंका जला दी रे भजन लिरिक्स

वाह रे म्हारा बालाजी तूने लंका जला दी रे भजन लिरिक्स

वाह रे म्हारा बालाजी, तूने लंका जला दी रे, मोटा मोटा राक्षसा की, नींद उड़ा दी रे, वारे बजरंग बाला जी, तूने लंका जला दी रे।। रावण लग्यो राम चन्द्र…

सांवरिया सेठ दे दे थारे भरियोछे भंडार टोटो ना पड़े रे लिरिक्स

सांवरिया सेठ दे दे थारे भरियोछे भंडार टोटो ना पड़े रे लिरिक्स

सांवरिया सेठ दे दे, मङंफिया रा मालिक दे दे, थारे भरियोछे भंडार, टोटो ना पड़े रे।। कटे तो जायो ने, कटे उपनियो रे, कुणे तो लड़ाया थारा लाड, मंने साची…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे