बंसी बाजेगी राधा नाचेगी भजन लिरिक्स

बंसी बाजेगी राधा नाचेगी,
बैरी जग रूठे ते रूठ जाए,
बँसी बाजेगी राधा नाचेगी।।

तर्ज – बिंदिया चमकेगी।



तेरी बंसी बड़ी जादूगारी,

जुलम मेरे साथ करे,
तेरी बंसी बड़ी जादूगारी,
जुलम मेरे साथ करे,
सारी रात जगाए बैरन,
मेरी नींद चुराए,
मैं तो नाचूंगी मैं तो नाचूंगी,
चाहे घर छूटे ते छूट जाए,
बँसी बाजेगी राधा नाचेगी।।



On bhajan diary,
राधा रानी हुई रे दीवानी,

बिरज के सांवरिया,
राधा रानी हुई रे दीवानी,
बिरज के सांवरिया,
मन ही मन वो चाहे,
लेकिन तुमको बोल ना पाए,
मैं तो चाहूंगी मैं तो चाहूंगी,
चाहे नभ टूटे ते टूट जाए,
बँसी बाजेगी राधा नाचेगी।।



‘हर्ष’ बोले मुरलिया से कान्हा,

बचा ना कोई आज तलक,
‘हर्ष’ बोले मुरलिया से कान्हा,
बचा ना कोई आज तलक,
भक्तों के ये होश उड़ाए,
सारी रात नचाए,
सेवक नाचेंगे छम छम नाचेंगे,
घुंघरू टूट जाए ते टूट जाए,
बँसी बाजेगी राधा नाचेगी।।



बंसी बाजेगी राधा नाचेगी,

बैरी जग रूठे ते रूठ जाए,
बँसी बाजेगी राधा नाचेगी।।

स्वर – मुकेश बागड़ा जी।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें