खाटू में विराजे मेरे बाबा दीनानाथ भजन लिरिक्स

खाटू में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।

तर्ज – सावन का महीना।



बड़ी ही निराली है ये,

खाटू नगरिया,
ताता लगा रहता मेरे,
श्याम की दुअरिया,
राजा ना रंक देखे,
ना देखे जात पात,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।



श्याम नाम से यहाँ गूंजे,

धरती अम्बर सारा,
आते जाते जय श्री श्याम का,
लगता जय जयकारा,
खाटू की गलियों में,
मिलते है दीनानाथ,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।



रींगस से खाटू की,

थोड़ी ही दुरी,
श्याम दरबर में होती,
सबकी इक्छा पूरी,
मन चाहा फल मिलता,
होती किरपा की बरसात,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।



‘रूबी रिधम’ तेरी महिमा,

गाते श्याम प्यारे,
रहते तेरी सेवा में,
सांझ सकारे,
दयानिधि मेरे बाबा,
कभी छोड़े ना दीन का हाथ,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।



खाटू में विराजे,

मेरे बाबा दीनानाथ,
बिगड़ी बनाते सबकी,
देते हारे का वो साथ,
खाटु में विराजे,
मेरे बाबा दीनानाथ।।

Singer – Manoj Aggarwal
Writer – Ruby Garg (Ruby Ridham)


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

तेरी मुरली में वो जादू है बिन डोर खिंचा आता हूँ भजन लिरिक्स

तेरी मुरली में वो जादू है बिन डोर खिंचा आता हूँ भजन लिरिक्स

तेरी मुरली में वो जादू है, बिन डोर खिंचा आता हूँ, जाना होता है और कही, तेरी ओर चला आता हूँ, तेरी मूरली में वो जादू है।। तर्ज – तेरे…

तमन्ना फिर मचल जाये अगर तुम मिलने आ जाओ भजन लिरिक्स

तमन्ना फिर मचल जाये अगर तुम मिलने आ जाओ भजन लिरिक्स

तमन्ना फिर मचल जाये, अगर तुम मिलने आ जाओ, मेरी ज़िन्दगी सवर जाए, अगर तुम मिलने आ जाओ, तमन्ना फिर मचल जाये, अगर तुम मिलने आ जाओ।। तर्ज – जगत…

काई काई देख्यो श्याम के मेले म्हाने भी बतलाओ जरा लिरिक्स

काई काई देख्यो श्याम के मेले म्हाने भी बतलाओ जरा लिरिक्स

काई काई देख्यो श्याम के मेले, म्हाने भी बतलाओ जरा, कैसो लाग्यो श्याम हमारो, म्हाने भी समझाओ जरा, काई काई बोलूं काई काई देख्यो, थे भी देखन जाओ जरा, माथे…

हर रोती हुई आँख को हंसा तेरी मेहरबानी होवेगी भजन लिरिक्स

हर रोती हुई आँख को हंसा तेरी मेहरबानी होवेगी भजन लिरिक्स

हर रोती हुई आँख को हंसा, तेरी मेहरबानी होवेगी, हर हारे हुए प्रेमी को जीता, तेर मेहरबानी होवेगी।। तर्ज – बाबा करले तू इथे भी नज़र। बार बार दर कोई…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे