ओ जी बालाजी थे तो अर्जी म्हारी सुण लो जी

ओ जी बालाजी थे तो अर्जी म्हारी सुण लो जी

ओ जी बालाजी थे तो,
अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।



ओ जी बालाजी थे तो,

अंजनि मां का लाला जी,
संता का बुलाया बेगा,
आवज्यो महाराज,
ओ जी बालाजी थे तों,
अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।



ओ जी बालाजी थे तो,

मेहंदीपुर बिराज्या जी,
संता का बुलाया बेगा,
आवज्यो महाराज,
ओ जी बालाजी थे तों,
अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।



ओजी बालाजी थांके,

दुखिया द्वार पर आवे जी,
दुखिया का दुःख काटण,
बेगा आवज्यो महाराज,
ओ जी बालाजी थे तों,
अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।



ओजी बालाजी यो,

चम्पा लाल यश गावे जी,
दुबतड़ी नैया ने बेगी,
तारज्यो महाराज
ओ जी बालाजी थे तों,
अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।



ओ जी बालाजी थे तो,

अर्जी म्हारी सुण लो जी,
भक्ता रा बुलाया,
बेगा आवज्यो महाराज।।

प्रेषक – प्रजापति म्यूजिकल ग्रुप,
भीलवाड़ा (राज.) 89479-15979


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें