अगर माँ ने ममता लुटाई ना होती भजन लिरिक्स

अगर माँ ने ममता लुटाई ना होती भजन लिरिक्स

अगर माँ ने ममता लुटाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती।।



द्वारे पे आए माँ हमको निहारो,

सोई हुई तक़दीर संवारो,
अगर माँ की ज्योति जलाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
अगर मां ने ममता।।



हमें क्या पड़ी है हम तुम्हे मनाए,

हमारा तो हक़ है की हम रूठ जाए,
अगर माँ मनाने तू आई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
अगर मां ने ममता।।



फटकार देना माँ दुत्कार देना,

मगर भोली माँ लाल को प्यार देना,
अगर माँ ने बिगड़ी बनाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
तो ममतामयी माँ कहाई ना होती,
अगर मां ने ममता।।



अगर माँ ने ममता लुटाई ना होती,

तो ममतामयी माँ कहाई ना होती।।

स्वर – पूज्य राजन जी महाराज।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें