आए मैया के नवराते हो रहे घर घर में जगराते भजन लिरिक्स

आए मैया के नवराते,
हो रहे घर घर में,
हो रहे घर घर में जगराते,
रिझाते मैया को,
रिझाए मैया को झूमते गाते,
गूंज रही भक्तो की,
गूंज रही भक्तो की जय जयकार,
सजा है माता का,
सजा है माता का दरबार।।



बुलावा जब जब भवन से आए,

भेज के चिठियाँ ओए,
भेज के चिठियाँ मात बुलाए,
नंगे पाओं ओए,
नंगे पाओं चलके जाएँ,
भेंटे लेके ओए,
भेंटे लेके खड़े है द्वार,
मैया दर्शन दो,
मैया दर्शन दो सिंह सवार।।



माँ का कोई है पार ना पाया,

रूप धर कन्या का,
रूप धर कन्या का महामाया,
दुखड़ा भक्तो का,
दुखड़ा भक्तो का मात मिटाया,
करे कन्याओ का,
करे कन्याओ का जो सत्कार,
भवानी करती बेडा पार।।



वैष्णो माँ की महिमा भारी,

हरेगी ‘लख्खा’ चिंताए सारी,
शेरोवाली की,
जोतावाली की,
मेहरावाली की,
अम्बे रानी की,
तारनहारी हारी माँ,
‘सरल’ चल चलिए ओय,
‘सरल’ चल चलिए ओय एक बार,
खुलेंगे खुशियों के,
खुलेंगे खुशियों के फिर द्वार।।



आए मैया के नवराते,

हो रहे घर घर में,
हो रहे घर घर में जगराते,
रिझाते मैया को,
रिझाए मैया को झूमते गाते,
गूंज रही भक्तो की,
गूंज रही भक्तो की जय जयकार,
सजा है माता का,
सजा है माता का दरबार।।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ताना रे ताना विभीषण का जिसको नहीं सुहाया भजन लिरिक्स

ताना रे ताना विभीषण का जिसको नहीं सुहाया भजन लिरिक्स

ताना रे ताना विभीषण का, जिसको नहीं सुहाया, भरी सभा में फाड़ के सीना, बजरंग ने दिखलाया, बैठे राम राम राम, सीता राम राम राम।। तर्ज – माई नी माई…

मैया को कैसे मैं मनाऊँ रे मेरी मैया ना माने भजन लिरिक्स

मैया को कैसे मैं मनाऊँ रे मेरी मैया ना माने भजन लिरिक्स

मैया को कैसे मैं मनाऊँ रे, मेरी मैया ना माने, अम्बे ना माने जगदम्बे ना माने, काली ना माने महाकाली ना माने, मैया को कैसे मैं मनाऊ रे, मेरी मैया…

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते हैं लख्खा जी भजन लिरिक्स

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते हैं लख्खा जी भजन लिरिक्स

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते हैं, संकट हरने वाले को हनुमान कहते हैं।। हो जाते है जिसके अपने पराये, हनुमान उसको कंठ लगाये, जब रूठ जाये संसार सारा, बजरंगबली…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे