आज मेरे श्याम की शादी है श्री कृष्ण रुक्मणि विवाह भजन

आज मेरे श्याम की शादी है,
श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है,
ऐसा लगता है सारे,
ब्रजधाम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी हैं।।

तर्ज – आज मेरे यार की शादी है।



बनी है खूब जोड़ी,

कृष्ण रुक्मणि की जोड़ी,
ख़ुशी से नाचे है मन,
मिला सजनी को साजन,
हो ओ,,, आज मुझे लगता है,
की ब्रम्हाण्ड की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।

आज मेरे श्याम की शादी हैं,
श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।



रुक्मणि यूँ मुस्कावे,

मुझे कान्हा मिल जावे,
मेरी थी यहीं तमन्ना,
पूरी मेरी हुई तमन्ना,
हो ओ,,, आज मुझे लगता है,
की ब्रम्हाण्ड की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।

आज मेरे श्याम की शादी हैं,
श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।



जगत के पालन कर्ता,

बने रुक्मणि के भर्ता,
गोपियों के चितचोर,
दूल्हा बने माखनचोर,
हो ओ,,,मधुमंगल और श्रीदामा ने,
धूम मचाई है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।

आज मेरे श्याम की शादी हैं,
श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।



वक्त है खूबसूरत,

बड़ा शुभ लगन मुहूरत,
देखो क्या खूब सजी है,
दूल्हे की भोली सूरत,
हो ओ,,,बने बाराती देवता सब,
होके साथी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।

आज मेरे श्याम की शादी हैं,
श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है।।



आज मेरे श्याम की शादी हैं,

श्याम की शादी है,
मेरे घनश्याम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी है,
ऐसा लगता है सारे,
ब्रजधाम की शादी है,
आज मेरे श्याम की शादी हैं।।

इसी तरह के हजारों भजनों को,
सीधे अपने मोबाइल में देखने के लिए,
भजन डायरी एप्प डाउनलोड करे।

भजन डायरी एप्प


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

भला किसी का कर ना सको तो बुरा किसी का मत करना लिरिक्स

भला किसी का कर ना सको तो बुरा किसी का मत करना लिरिक्स

भला किसी का कर ना सको तो, बुरा किसी का मत करना, पुष्प नहीं बन सकते तो तुम, कांटे बन कर मत रहना।। तर्ज – क्या मिलिए ऐसे लोगो से।…

रूप जो मेरे श्याम को भावे रूप वही मैं पाऊं भजन लिरिक्स

रूप जो मेरे श्याम को भावे रूप वही मैं पाऊं भजन लिरिक्स

रूप जो मेरे श्याम को भावे, रूप वही मैं पाऊं, इसी बहाने श्याम तिहारे, प्रेम को मैं पा जाऊं।। श्याम बने जो बंसी बजैया, मुरली मैं बन जाऊं, अधरों पर…

कान्हा तेरी मुरली है जादू भरी झूमता है ये मन लिरिक्स

कान्हा तेरी मुरली है जादू भरी झूमता है ये मन लिरिक्स

कान्हा तेरी मुरली है जादू भरी, झूमता है ये मन, नाचता है ये मन।। तर्ज – जिया नहीं लागे कहीं तेरे। बंसी बजाओ ना, धुन सुनाओ ना, यमुना किनारे तू…

श्याम थारी चाकरी म्हारो मान बढ़ावे रे भजन लिरिक्स

श्याम थारी चाकरी म्हारो मान बढ़ावे रे भजन लिरिक्स

श्याम थारी चाकरी, म्हारो मान बढ़ावे रे, बाबा थारी चाकरी, म्हारो मान बढ़ावे रे, सेवक हूँ थारो बाबा, सेवक हूँ थारो जी, सेवक हूँ थारो बाबा, ये सबने बतलावे, श्याम…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

1 thought on “आज मेरे श्याम की शादी है श्री कृष्ण रुक्मणि विवाह भजन”

  1. इस भजन की प्रत्येक लाइन मेरे दिल को भा गई
    जय श्री राधे
    ????
    आपका अपना लाड़ला भाई शिवम् कौशिक श्याम प्रेमी
    ,अलवर(राजस्थान)

    Reply

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे