ये खाटू का राजा मेरा हो गया भजन लिरिक्स

ये खाटू का राजा मेरा हो गया,

ऐ श्याम प्यारे हो सबके सहारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया,
ऐ श्याम प्यारे हो सबके दुलारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया,
जो कुछ भी मिला है,
इस दर से मिला है,
ये खाटु का राजा मेरा हो गया।।

तर्ज – ऐ फूलों की रानी।



मेरे सांवरे सुन तुम्हे हम मनाते,

हालात दिल के तुम्ही को सुनाते,
मैं हूँ तेरा आशिक़ रे सदियों पुराना,
तेरा दर ठिकाना मेरा हो गया,
ऐ श्याम प्यारे हो सबके सहारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया।।



तमाशा जगत ने मेरा है बनाया,

सुनाने को बिनती ये सेवक है आया,
तेरे नाम से जो मेरा नाम जोड़ा,
सदा मुस्कुराना मेरा हो गया,
ऐ श्याम प्यारे हो सबके सहारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया।।



मुझे वर ये दे दो मैं गुण तेरे गाऊं,

ज्योति तेरी दिल मैं सबके जगाऊँ,
तेरा दर्श पाकर ही दुनिया से जाना,
अब ‘राखी’ ये सपना मेरा हो गया,
ऐ श्याम प्यारे हो सबके सहारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया।।



ऐ श्याम प्यारे हो सबके सहारे,

तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया,
ऐ श्याम प्यारे हो सबके दुलारे,
तेरा अब ये सेवक तेरा हो गया,
जो कुछ भी मिला है,
इस दर से मिला है,
ये खाटू का राजा मेरा हो गया,

ये खाटु का राजा मेरा हो गया।।

Singer – Rajpal Lakkha


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

अगर मैया तेरी किरपा ना होती भजन लिरिक्स

अगर मैया तेरी किरपा ना होती भजन लिरिक्स

अगर मैया तेरी, किरपा ना होती, गरीबों को दुनिया, जीने का देती, अगर मईया तेरी, किरपा ना होती।। तर्ज – तुम्ही मेरे मंदिर। दर दर फिरता, मैं तो मारा मारा,…

खुद से भी ज्यादा है तुम पे विश्वास सांवरे भजन लिरिक्स

खुद से भी ज्यादा है तुम पे विश्वास सांवरे भजन लिरिक्स

खुद से भी ज्यादा है, तुम पे विश्वास सांवरे, तुम ही पूरी करोगे, मेरी आस सांवरे, खुद से भी ज़्यादा है, तुम पे विश्वास सांवरे।। तर्ज – ठहरे हुए पानी…

आयो फागणियो रंगीलो सगला हो जाओ तैयार लिरिक्स

आयो फागणियो रंगीलो सगला हो जाओ तैयार लिरिक्स

आयो फागणियो रंगीलो, सगला हो जाओ तैयार, आयों फागणियो रंगीलो, खाटू माहि श्याम धणी का, खाटू माहि श्याम धणी का, लगा गजब दरबार, आयों फागणियो रंगीलो, आयों फागणियो रंगीलो, सगला…

निको लगे रे बड़ो प्यारो लगे मोहे लागे वृन्दावन निको लिरिक्स

निको लगे रे बड़ो प्यारो लगे मोहे लागे वृन्दावन निको लिरिक्स

निको लगे रे बड़ो प्यारो लगे, दोहा – वृन्दावन के वृक्ष को, मर्म न जाने कोय, डार डार और पात पात में, श्री राधे राधे होय। निको लगे रे बड़ो…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे