झरमर झालो रे माय उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो

झरमर झालो रे माय,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
झरमर झालो रें माय,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
ए कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



ए लौकी तो रोंदी रे लसपस लापसी,

चिड़िया परोसे है दाल,
लौकी तो रोंदी रे लसपस लापसी,
चिड़िया परोसे है दाल,
ए रजने जीमो रे मोरा जोनीया,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
झरमर झालो रें माय,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
ए कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



ए हिमाले जायेने तोरन बोंधीयो,

लौकी उतारे है लून,
अरे हिमाले जायेने तोरन बोंधीयो,
लौकी उतारे है लून,
अरे दिल्ली रे जायेने तोरन बोंधीयो,
देखो पिसा रा सिनगार,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
झरमर झालो रें माय,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
ए कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



अरे उंदरो जायेने मुसा बोलीयो,

डूंगर खोसी है तलवार,
उंदरो जायेने मुसा बोलीयो,
डूंगर खोसी है तलवार,
जायेने मौका रो माथो बाडीयो,
बुआ है लोया रा खंगार,
अरे जायेने मौका रो माथो बाडीयो,
बुआ है लोया रा खंगार,
ए उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



अरे महला सु मीनी बाई नीचा उतरीया,

माथे लाडुडो रो चाल,
महला सु मीनी बाई नीचा उतरीया,
हमीरे थकीयो रे घरजी गुतरो,
होमीयो मीनी रो मरोड,
ए उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



अरे सुरगा ती सावलबाई नीचा उतरीया,

लारे कुरजा रो डाल,
अरे सुरगा ती सावलबाई नीचा उतरीया,
लारे कुरजा रो डाल,
ए मुथा रे त्रिलोक चन्द री विनती,
सुनजो चित लगाय,
ए उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।



झरमर झालो रे माय,

उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
झरमर झालो रें माय,
उडते पंखेरू विवाह मोंडीयो,
बाई मारा पिसा ने परणाव,
ए कवरियो बाबोसा रो लाडलो।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें