कोरोना को रोग आयो रे बाबा कोरोना सू म्हानै बचाज्यो

कोरोना को रोग आयो रे बाबा,

दोहा – रामा मोरी राखियो,
अब डोरी तेरे हाथ,
2020-21 माईने,
भगता कि राखज्यो थे लाज।
2020-21 माईने,
कोरोना को रोग पडग्यो भारी,
ई कलजुग बीच माईने,
अवतार लिज्यो 100 बारी।



कोरोना को रोग आयो रे बाबा,

कोरोना को रोग आयो,
कोरोना सू म्हानै बचाज्यो हे वो जी,
कोरोना सू भगता ने बचाज्यो हे वो जी।।



काल पडग्यो भारी बाबा,

काल पडग्यो भारी,
काल सू म्हानै बचाज्यो हे वो जी।।



पलक्या को रोग मिटायो बाबा,

पलक्या को रोग मिटायो,
कोरोना को रोग मिटावजो वो हे जी।।



लोग मरिया भारी बाबा,

लोग मरिया भारी,
लोगा कि जान बचावजो वो है जी।।



जो थारो नाम लेवेला बाबा,

जो थारो नाम लेवेलो,
वो कोरोना सू आज बचेला वो है जी।।



मनोहर अर्ज करे म्हारा बाबा,

मनोहर अर्ज करे,
कलजुग मे परचो दिज्यो वो है जी।।



कोरोना को रोग आयों रे बाबा,

कोरोना को रोग आयों,
कोरोना सू म्हानै बचाज्यो हे वो जी,
कोरोना सू भगता ने बचाज्यो हे वो जी।।

गायक / प्रेषक – मनोहर परसोया।
कविता साउँण्ड किशनगढ़।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

सुगना रा आंसूडा पोछया रामदेव सिर हाथ धरयो

सुगना रा आंसूडा पोछया रामदेव सिर हाथ धरयो

सुगना रा आंसूडा पोछया, रामदेव सिर हाथ धरयो, भानु ने आवाज लगायी, सुतो वे तो जाग परो, आव आव म्हारा प्यारा भानु, मामोसा बुलावे है, सुतो वेतो जाग नींद सु,…

पैदल आया भक्त सोनाले भेरूजी थारे भरोसे रे

पैदल आया भक्त सोनाले भेरूजी थारे भरोसे रे

पैदल आया भक्त सोनाले, पैदल आया भक्त सोनालें, किनरे भरोसे ओ थारे भरोसे रे, भेरूजी थारे भरोसे रे।। भेरूजी री किरपा भाई, हेवे चारो खूट, भेरूजी री किरपा भाई, हेवे…

वन में चले रघुराई संग उनके सीता माई भजन लिरिक्स

वन में चले रघुराई संग उनके सीता माई भजन लिरिक्स

वन में चले रघुराई, संग उनके सीता माई, राजा जनक की जाई, राजा जनक की जाई।। तर्ज – दिल में तुझे बिठाके। आगे आगे राम चले है, पीछे लक्ष्मण भाई,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे