ओ थारी वानरी सुरत प्यारी लागे मारा बालाजी

ओ थारी वानरी सुरत प्यारी लागे मारा बालाजी

ओ थारी वानरी सुरत प्यारी,
लागे मारा बालाजी,
लागे मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।



थारा दर्शन की अभिलाषा,

मन में राखु मारा बालाजी,
राखु मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।



लाल लंगोटा थारे,

हाथा मे गोटा,
माने लाम्बी लाम्बी पुछ,
प्यारी लागे मारा बालाजी,
लागे मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।



रामजी का पायक थे हो,

भगता का सहायक,
दुखिया का दुखड़ा,
मीटावे मारा बालाजी,
मीटावे मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।



रतन गोसाई बालाजी,

चरणा को चाकर,
चरणा मे आया की,
लज्जया राखो मारा बालाजी,
राखो मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।



ओ थारी वानरी सुरत प्यारी,

लागे मारा बालाजी,
लागे मारा बालाजी,
मैं गुण थारा गाऊला,
गाऊला बालाजी,
गुण थारा गाऊला,
ग्यान नही जाणु मैं तो,
राग नही जाणु।।

– भजन प्रेषक –
Ratan puri goswami
8290907236

वीडियो उपलब्ध नहीं।


 

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें