प्रथम पेज गणेश भजन ओ मेरी लाज बचाओ गजानन आओ गणेश आओ गणेश

ओ मेरी लाज बचाओ गजानन आओ गणेश आओ गणेश

आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश,
ओ मेरी लाज बचाओ गजानन,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।

तर्ज – वादा ना तोड़।



चंदन तिलक लगावा गजानंद,

गल मोतियन की माला पहनावा गजानंद,
मोती डूंगरी से आओ गजानंद,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।



रिद्धि सिद्धि लेकर आओ गजानंद,

घर आंगन महकाओ गजानंद,
छप्पन भोग तैयार जो मन में सौ पावो,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।



शिव शंकर का पुत्र थे हो प्यारा,

मां पार्वती का थे लाल दुलारा,
करके मूसे की सवारी घर पर आओ,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।



तानसेन गणपति गुण गावे,

अमृत चरणों में शीश झुकावे,
सब भक्तों की नैया को पार लगाओ,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।



आओ गणेश आओ गणेश,

आओ गणेश आओ गणेश,
ओ मेरी लाज बचाओ गजानन,
आओ गणेश आओ गणेश,
आओ गणेश आओ गणेश।।

– गायक एवं प्रेषक –
धर्मेंद्र सैनी
8560906367


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।