प्रथम पेज हनुमान भजन तेरी चौखट पे ओ बाबा जिंदगी सजने लगी भजन लिरिक्स

तेरी चौखट पे ओ बाबा जिंदगी सजने लगी भजन लिरिक्स

तेरी चौखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी,
जिंदगी सजने लगी मेरी,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।

तर्ज – सांवली सूरत पे मोहन।



जो भी तेरे दर पे आया,

कुछ ना कुछ ले के गया,
होले होले ही सही मेरी,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।



ढूंढ आया सारे जग में,

देव तुमसा ना मिला,
तेरा दरवाजा खुला और,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।



तू ही मूरत तू ही तीरथ,

तू ही सब कुछ है मेरा,
हाथ जो तुमने ये थामा,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।



तेरी नजरे ओ बालाजी,

‘पंकज’ पे रखना सदा,
छोटी सी ख्वाहिश ‘अमित’ की,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।



तेरी चौखट पे ओ बाबा,

जिंदगी सजने लगी,
जिंदगी सजने लगी मेरी,
जिंदगी सजने लगी,
तेरी चौंखट पे ओ बाबा,
जिंदगी सजने लगी।।

Singer – Amit Chandak


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।