तेरी भोली सी सुरतिया समाए गई दिल में ओ सांवरिया लिरिक्स

तेरी भोली सी सुरतिया,
समाए गई दिल में ओ सांवरिया,
ओ मेरे सांवरिया ओ मेरे सांवरिया,
ओ मेरे सांवरिया ओ मेरे सांवरिया।।

ये भी देखें – तेरी भोली सी सुरत सांवरिया।



ओ तेरे नैना रस के रसीले,

ओ रसीले और कटीले,
ओ तेरे नाक होंठ को देखके प्यारे,
लग ना जाए नजरिया,
समाए गई दिल में ओ सांवरिया।।



ओ तेरे मोरपखा सिर सोहे,

ओ तेरी सूरत मन को मोहे,
हाथ लकुटिया कांधे कमरिया,
बाजे मधुर बांसुरिया,
समाए गई दिल में ओ सांवरिया।।



तेरी अलखे हैं घुंघराली,

ओ घुंघरारी कारी कारी,
ओ पागल तो है तेरा दीवाना,
कर दे बीते उमरिया,
समाए गई दिल में ओ सांवरिया।।



तेरी भोली सी सुरतिया,

समाए गई दिल में ओ सांवरिया,
ओ मेरे सांवरिया ओ मेरे सांवरिया,
ओ मेरे सांवरिया ओ मेरे सांवरिया।।

स्वर – चित्र विचित्र जी महाराज।
प्रेषक – ऋषि कुमार विजयवर्गीय।
7000073009


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें