ओ सांवरे दुःख से बचाते रहोगे भजन लिरिक्स

ओ सांवरे दुःख से बचाते रहोगे,
आते रहे हो हर दम आते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।

तर्ज – ओ सांवरे हमको तेरा।



तेरा भरोसा सांवरिये,

तू ही एक हमारा है,
जब जब दुःख के दिन आये,
देता तू ही सहारा है,
चलाते रहो हो नैया चलाते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।



जब से सजाई इस घर में,

श्याम तेरी तस्वीर को,
तूने सजाई हाथों से,
मेरी इस तक़दीर को,
सजाते रहे हो जीवन सजाते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।



मेरा एक ठिकाना बस,

श्याम तेरा दरबार है,
याद हमें कर लेते हो,
ये तेरा उपकार है,
बुलाते रहो हो खाटू बुलाते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।



जब जब भी ‘बनवारी’,

दिल मेरा घबराता है,
भगत तेरा ऐ श्याम धणी,
रो रो तुम्हे बुलाता है,
लगाते रहे हो गले से लगाते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।



ओ सांवरे दुःख से बचाते रहोगे,

आते रहे हो हर दम आते रहोगे,
ओ साँवरे दुःख से बचाते रहोगे।।

Singer – Shweta Agrawal


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें