तेरे मेरे बिच कन्हैया कैसी है तकरार भजन लिरिक्स

तेरे मेरे बिच कन्हैया,
कैसी है तकरार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार,
तेरे भक्तों को सांवरिया,
तेरी है दरकार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार।।

तर्ज – हम तुम्हारे थे प्रभु जी।



इस दुनिया में ढूंढ रहा हूँ,

कौन हमारा अपना,
बंद पड़े है सब दरवाजे,
जग है झूठा सपना,
तुझ बिन कोई नजर ना आए,
सांवरे सरकार,
तेरे मेरे बिच कन्हैंया,
कैसी है तकरार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार।।



अपनी नजर से दूर ना करना,

तुम बिन कौन हमारा,
किया समर्पित जीवन तुझको,
तेरा एक सहारा,
हाथ दया का सिर पर रख दे,
सांवरे सरकार,
तेरे मेरे बिच कन्हैंया,
कैसी है तकरार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार।।



किसे सुनाऊं किसे बताऊँ,

मज़बूरी ये मेरी,
‘शिव-सुबोध’ का हाथ पकड़ ले,
अब ना कर तू देरी,
‘अमित’ को चरणों में रख लो,
सांवरे सरकार,
तेरे मेरे बिच कन्हैंया,
कैसी है तकरार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार।।



तेरे मेरे बिच कन्हैया,

कैसी है तकरार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार,
तेरे भक्तों को सांवरिया,
तेरी है दरकार,
मैं सदा से हूँ तुम्हारा,
सांवरे सरकार।।

Singer – Amit Chandak