हो तेरा दुनिया के महा नाम मेरे सतगुरु देव मुरारी हो

हो तेरा दुनिया के महा नाम मेरे सतगुरु देव मुरारी हो

हो तेरा दुनिया के महा नाम,
हो नाम, मेरे सतगुरु देव मुरारी हो,
मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।



हो आलु सिंह संत का चैला,

हो आलु सिंह संत का चैला,
भगत शिरोमणी बड़ा अलबैला,
तेरे मन में बसे हनुमान हनुमान,
मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।



बालाजी में ध्यान लगाया,

बालाजी में ध्यान लगाया,
समचाणे में भवन बणाया,
जहां मिटते कष्ट तमाम,
हो तमाम,मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।



कई हजार सं चैले तेरे,

कई हजार सं चैले तेरे,
गाम गाम में ला रहे डेरे,
ये सब तेरी संतान हो संतान,
मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।



भगत हवा सिंह लागै प्यारा,

भगत हवा सिंह लागै प्यारा,
नरैन्द्र पलड़ी भजन बणा रहया,
किया कौशिक ने गुणगान,
गुणगान मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।



हो तेरा दुनिया के महा नाम,

हो नाम, मेरे सतगुरु देव मुरारी हो,
मेरे सतगुरु देव मुरारी हो।।

गायक – नरेन्द्र कौशिक।
भजन प्रेषक – राकेश कुमार जी,
खरक जाटान(रोहतक)
( 9992976579 )


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें