प्रथम पेज कृष्ण भजन सोने सिंघासन विराजे बाबो श्याम भजन लिरिक्स

सोने सिंघासन विराजे बाबो श्याम भजन लिरिक्स

सोने सिंघासन विराजे बाबो श्याम,
भगत थारा लाड़ करे,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू।।



पांच टेम थारी करा आरती,

बड़े चाव सु बाबा,
बड़े चाव सु बाबा,
सेवक चंवर धुलावे थारे,
भोग लगावे बाबा,
भोग लगावे बाबा,
म्हाने हिवड़े से प्यारो खाटू धाम,
ओ म्हाने हिवड़े से प्यारो खाटू धाम,
भगत थारा लाड़ करे,
सोने सिंघासन बिराजे बाबो श्याम,
भगत थारा लाड़ करे,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू।।



सिंहासन पर बेठ्यो बाबो,

सांचो न्याय चुकावे,
सांचो न्याय चुकावे,
ई कलयुग में श्याम धणी म्हारो,
न्यायधीश कहलावे,
न्यायधीश कहलावे,
जो भी जुग शीतल में,
पावेलो आराम,
जो भी जुग शीतल में,
पावेलो आराम,
भगत थारा लाड़ करे,
सोने सिंघासन बिराजे बाबो श्याम,
भगत थारा लाड़ करे,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू।।



कार्तिक शुक्ल फागुण माहि,

मेलो लागे भारी,
मेलो लागे भारी,
बड़े प्रेम से सारी दुनिया,
करे है पूजा थारी,
करे है पूजा थारी,
थाने चोखा चोखा,
भजन सुनावे श्याम,
थाने चोखा चोखा,
भजन सुनावे श्याम,
भगत थारा लाड़ करे,
सोने सिंघासन बिराजे बाबो श्याम,
भगत थारा लाड़ करे,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू।।



सोने सिंघासन विराजे बाबो श्याम,

भगत थारा लाड़ करे,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू,
लूंण राई वारूँ ऐ की नजर उतारू।।

Singer : Puja Nathani


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।