श्याम सांवरिया आजा छम छम रोये अँखिया भजन लिरिक्स

श्याम सांवरिया आजा छम छम रोये अँखिया भजन लिरिक्स

श्याम सांवरिया आजा,
छम छम रोये अँखिया,
तू नीले चढ़ आजा,
हमें आसरा तेरा है,
हारे का सहारा सबका,
बाबा श्याम हमारा है।।

तर्ज – ये मेरी अर्जी है मै वैसी बन जाऊं।



मुश्किलों से बचाता है,

बन के खिवईया सांवरा,
नैया पार लगाता है,
हम दर तेरे आएँगे,
एक बार हाथ पकड लो,
हम कभी ना छुडायेगे।।



छवि सुंदर प्यारी है,

एक बार कह दो सांवरे,
अब हमारी बारी है,
तेरे दर के भिखारी है,
कई जन्मो से सांवरे,
हम तेरे पुजारी है।।



कुछ और ना भाता है,

भाव का भूखा सांवरा,
ये तो प्यार लुटाता है,
इतना सा कर्म कर दे,
जब भी पुकारे तुझको,
तू आने का वर दे दे।।



श्याम सांवरिया आजा,

छम छम रोये अँखिया,
तू नीले चढ़ आजा,
हमें आसरा तेरा है,
हारे का सहारा सबका,
बाबा श्याम हमारा है।।

Singer : Sanjay Gulati


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें