श्याम मेरी चुनर पे रंग मत डाल होली भजन लिरिक्स

श्याम मेरी चुनर पे,
रंग मत डाल,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।

तर्ज – श्याम तेरी बंसी।



भर पिचकारी कान्हा,

सन्मुख ना मारो,
अबीर गुलाल मेरे,
मुख पे ना डारो,
आज आई -2,
करके मैं सोलह श्रृंगार,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।



बीच बजरिया,

ना रोको मुरारी,
जाने दो श्याम,
मत आवो अगाड़ी,
पकड़ो ना बहिया जी-2,
पराई हू नार,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।



संग सहेली सब,

हांसी करेगी,
सास ननंद की मोहे,
डांट पड़ेगी,
झगडेंगे सैया जी-2,
घर पे हमार,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।



‘मंत्री’ कहे विनती,

अब सुन लो हमारी,
भक्त ‘दयाल’ रहे,
शरण तुम्हारी,
श्याम तेरे चरणों में-2,
जाऊं बलिहार,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।



श्याम मेरी चुनर पे,

रंग मत डाल,
विनती करूं पैया पडु,
तोरे बार-बार।।

गायक – द्वारका मंत्री।
देवास मध्य प्रदेश 94250 47895
लेखक – रामेश्वर दयाल जी आसावा इंदौर।