प्रथम पेज कन्हैया मित्तल भजन श्याम कर दे कृपा की तू नजर तेरा क्या बिगड़ जाएगा लिरिक्स

श्याम कर दे कृपा की तू नजर तेरा क्या बिगड़ जाएगा लिरिक्स

श्याम कर दे कृपा की तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा,
डाल एक वारी इथे वी नजर,
भगत तेरा तर जाएगा,
श्याम कर दें की कृपा तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा।।

तर्ज – बाबा करले तू इत्थे भी नजर।



डोर जिन्दगी की सौंप दूंगा,

तुझे एक बार में,
तुझे ही पुकारूँगा मैं,
बीच मजधार में,
तेरी भक्ति का आएगा असर,
भगत तेरा तर जाएगा,
श्याम कर दें कृपा की तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा।।



तेरे जैसा साथी नहीं कोई,

दूजा संसार में,
तू ही एक सच्चा साथी,
झूठे संसार में,
जब लेगा श्याम मेरी तू खबर,
भगत तेरा तर जाएगा,
श्याम कर दें कृपा की तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा।।



“बाबा तू सब जाने,

तुझसे मैं क्या कहूँ,
तू ही मेरा सबकुछ है,
तुझसे दिल की कहूँ,
बाबा तू सब जाने,
तुझसे मैं क्या कहूँ।”



हारे का सहारा,

एक तू ही तो है सांवरे,
मैं भी तो हूँ हारा,
बैया मेरी भी थाम ले,
कब तक बाबा रखूं मैं सबर,
सबर मेरा टूट जाएगा,
श्याम कर दें कृपा की तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा।।



श्याम कर दे कृपा की तू नजर,

तेरा क्या बिगड़ जाएगा,
डाल एक वारी इथे वी नजर,
भगत तेरा तर जाएगा,
श्याम कर दें कृपा की तू नजर,
तेरा क्या बिगड़ जाएगा।।

Singer – Kanhiya Mittal Ji


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।