श्रीनाथ बनके दीनानाथ बनके चले आना प्रभुजी चले आना लिरिक्स

श्रीनाथ बनके दीनानाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना।।

तर्ज – कभी राम बनके कभी।



तुम बालकृष्ण रूप में आना,

वैष्णव को दर्श दिखाना,
गोवर्धन नाथ बनके,
गिरिवर हाथ धरके,
चले आना प्रभुजी चले आना,
श्रींनाथ बनके दीनानाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना।।



तुम वृन्दावन में आना,

संग राधाजी को लाना,
व्रजनाथ बनके राधाकांत बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना,
श्रींनाथ बनके दीनानाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना।।



तुम गोकुल मथुरा में आना,

बाललीला अपनी दिखाना,
गोकुलनाथ बनके यदुनाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना,
श्रींनाथ बनके दीनानाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना।।



मेरे मनमंदिर में आना,

श्रद्धा का दीप जलाना,
सारे दोष हरले मुझे अपना करले,
चले आना प्रभुजी चले आना,
श्रींनाथ बनके दीनानाथ बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना।।



श्रीनाथ बनके दीनानाथ बनके,

चले आना प्रभुजी चले आना।।

गायक – नितिन देवका।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें