शिव की शरण में आजा भोले की शरण में भजन लिरिक्स

शिव की शरण में आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।



चंद्रमौलि चंद्रशेखर,

भोले त्रिपुरारी है,
गले मुंड माल राजे,
कर त्रिशूल धारी है,
नंदी पे सवार ऐसे,
नंदी पे सवार ऐसे,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।



संत और फकीर सब है,

भोले की शरण में,
गरीब और अमीर सब है,
भोले की शरण में,
शिव जी सबको मिलते है,
शिव जी सबको मिलते है,
ध्यान धरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।



हर वक़्त रहता हूँ मैं,

शिव की शरण में,
दुखड़ा सुनाता हूँ मैं,
शिव की शरण में
दुःख दूर होते है,
दुःख दूर होते है,
शिव की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।



प्रेम का खजाना है,

भोले की शरण में,
मन का तराना है,
भोले की शरण में,
दिल से इसको गाता हूँ मैं,
दिल से इसको गाता हूँ मैं,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
Bhajan Diary Lyrics,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।



शिव की शरण में आजा,

भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में,
एक बार आजा आजा,
भोले की शरण में।।

स्वर – ओसमान मीर।