शेरावाली दा चोला सुहा लाल लाल माँ नु प्यारा लागे लिरिक्स

शेरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।

तर्ज – नन्द भवन में उड़ रही धूल।



मैया जी दे सिर उते चुनरी है सजदी,

मैया जी दे सिर उते चुनरी है सजदी,
माँ दी चुनरी दा रंग सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे,
शेंरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।



मैया जी दे मत्थे उते बिंदिया चमकदी,

मैया जी दे मत्थे उते बिंदिया चमकदी,
माँ दी बिंदिया दा रंग भी है लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे,
शेंरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।



मैया जी दे हत्था विच मेहंदी महकदी,

मैया जी दे हत्था विच मेहंदी महकदी,
माँ दी मेहंदी दा रंग गहरा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे,
शेंरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।



मैया जी दी बाहि विच चुड़िया खनकती,

माँ दी चूड़ियां दा रंग भी है लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे,
शेंरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।



‘संजू बिमला’ तो माँ दा श्रृंगार करदी,

‘संजू बिमला’ तो माँ दा श्रृंगार करदी,
‘राणा’ लिखे गुण बण तेरा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे,
शेंरावाली दा चोला सुहा लाल,
लाल माँ नु प्यारा लागे।।



शेरावाली दा चोला सुहा लाल,

लाल माँ नु प्यारा लागे।।

Singer – Sanju Rathor, Bimla Rathor


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें