सब मिल कर मंगल गाओ आज है जगराता भजन लिरिक्स

सब मिल कर मंगल गाओ,
आज है जगराता,
तुम प्रेम से माँ को मनाओ,
आज है जगराता।।



जगराते में देखो गणपति आए है,

संग वो अपने रिद्धि सिद्धि को लाए है,
जिन्हे देख के मन मेरा है हरषाता,
तुम प्रेम से माँ को मनाओ,
आज है जगराता।।



जगराते में देखो मोहन आए है,

संग वो अपने राधा को भी लाए है,
रूप मोहना इनका सबको है भाता,
तुम प्रेम से माँ को मनाओ,
आज है जगराता।।



जगराते में ब्रह्मा विष्णु आए है,

संग अपने शिव शंकर को भी लाए है,
इनके चरणों का यश देखो जग गाता,
तुम प्रेम से माँ को मनाओ,
आज है जगराता।।



सब मिल कर मंगल गाओ,

आज है जगराता,
तुम प्रेम से माँ को मनाओ,
आज है जगराता।।

स्वर – अनुराधा जी पौडवाल।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें