सेठों की क्या करे नौकरी करले चाकरी बाबा की लिरिक्स

सेठों की क्या करे नौकरी,
करले चाकरी बाबा की,
मेरे श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की,
श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की।।



भक्तों की भर्ती चालु,

तू क्यों कर देर लगाए,
आगे पीछे हो सकता पर,
एक दिन नम्बर आए,
चिंता सारी मिट जाएगी,
लूण तेल और आटा की,
मेरे श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की,
श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की।।



नित नियम से दर्शन पाना,

रे सुन ‘लख्खा’ नादान,
गर नाना करोगे भैया,
तो हो जासी नुकसान,
बड़े नफे का सौदा है ये,
बात नहीं कोई घाटा की,
मेरे श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की,
श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की।।



कवे ‘हर्ष’ तू चंद दिनों में,

फिर परमानेंट हो जाए,
मेरे श्याम धणी का जग में,
तू सर्वेंट कहाए,
तने बिड़ला की दरकार नहीं,
तने नहीं जरुरत टाटा की,
Bhajan Diary Lyrics,
मेरे श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की,
श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की।।



सेठों की क्या करे नौकरी,

करले चाकरी बाबा की,
मेरे श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की,
श्याम के जैसा सेठ ना कोई,
करले नौकरी बाबा की।।

Singer – Lakhbir Singh Lakkha Ji


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें