ध्वजा बना दे एक निराली जिसमें दिखे बाबा श्याम लिरिक्स

ध्वजा बना दे एक निराली,
जिसमें दिखे बाबा श्याम,
चोगरदे तै दुनिया आवे,
बनते दिखै बिगड़े काम।।

तर्ज – क्या मिलिए ऐसे।



मीराबाई की भक्ति दिखै,

जहर का घूंट वा पीती हो,
एक नाम बनवारी का बस,
उसके सहारे जीती हो,
हरनंदी का भात दिखा दे,
चंबा माने लोग तमाम,
चोगरदे तै दुनिया आवे,
बनते दिखै बिगड़े काम।।



खाटू का लख मेला दिखा दे,

लखदातार की शान दिखा,
हारनिये का साथी बैठा,
सबनै किलकी मार बता,
श्याम निशान की भीड़ दिखा दे,
गूंजे सारे श्याम का नाम,
चोगरदे तै दुनिया आवे,
बनते दिखै बिगड़े काम।।



भगता के पूरे नाम लिखा दे,

छपवाई रंगीन करा,
अक्षर चमके दूर-दूर तै,
जय श्री श्याम तू लिखवा,
दिनेश जांगड़ा भी भजन बनावे,
लेता रहता श्याम का नाम,
चोगरदे तै दुनिया आवे,
बनते दिखै बिगड़े काम।।



ध्वजा बना दे एक निराली,

जिसमें दिखे बाबा श्याम,
चोगरदे तै दुनिया आवे,
बनते दिखै बिगड़े काम।।

प्रेषक – दिनेश जांगड़ा।
9899938407


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें