साँवरिया मेरे घर आए है भजन लिरिक्स

साँवरिया मेरे घर आए है,

दोहा – सांवरे आयो री सखी,
मैं आँगन रही बुहार,
हाथ जोड़ स्वागत करूँ,
मैं झुक झुक करूँ जुहार।



अंगना धुलाओ,

द्वार सजाओ,
साँवरिया मेरे घर आए है,
सांवरिया मेरे घर आए है,
पलके बिछाओ,
मंगल गाओ,
सांवरिया मेरे घर आए है,
ओ रे कोई गजरे लाओ री,
सांवरे को खूब सजाओ री,
मुस्काए आज मेरे सांवरे बिहारी,
मुस्काए आज मेरे सांवरे बिहारी,
ओ रे कोई इत्तर लाओ री,
केसर छिडकाओ री,
मेरे सांवरे को खुशबू है प्यारी,
मेरे सांवरे को खुशबू है प्यारी,
लूणराई वारो नजर उतारो,
सांवरिया मेरे घर आए है।।

तर्ज – आज मेरे प्रभु घर आवेंगे।



भजनों में श्रध्दा भरो,

भावो की बरखा करो,
घर मेरे मालीक ने डाला है डेरा,
घर मेरे मालीक ने डाला है डेरा,
चरणों में ध्यान धरो,
श्याम गुणगान करो,
आज संवर जाए जीवन ये तेरा,
आज संवर जाए जीवन ये तेरा,
मीठे भजन सुनाओ सब मिल,
Bhajan Diary Lyrics,
सांवरिया मेरे घर आए है।।



मेरे सोये भाग्य जगे,

ऐसा मोहे आज लगे,
ख़ुशी आज द्वार मेरे आई है चलके,
ख़ुशी आज द्वार मेरे आई है चलके,
देखो मेरी धड़कन बढ़ी,
किस्मत द्वार खड़ी,
अश्रु धरा इन नैनो से छलके,
अश्रु धरा इन नैनो से छलके,
अरमा ‘हर्ष’ हुए मेरे पुरे,
अरमा ‘हर्ष’ हुए मेरे पुरे,
सांवरिया मेरे घर आए है।।

Singer – Vikash Jha


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

बस इतनी तमन्ना है श्याम तुम्हे देखूं भजन लिरिक्स

बस इतनी तमन्ना है श्याम तुम्हे देखूं भजन लिरिक्स

बस इतनी तमन्ना है, बस इतनी तमन्ना है, श्याम तुम्हे देखूं, घनश्याम तुम्हे देखूं।।  सिर मुकुट सुहाना हो, माथे तिलक निराला हो, गल मोतियन माला हो, श्याम तुम्हे देखूं, घनश्याम…

ऊँचे ऊँचे पर्वत पे शारदा माँ का डेरा है भजन लिरिक्स

ऊँचे ऊँचे पर्वत पे शारदा माँ का डेरा है भजन लिरिक्स

ऊँचे ऊँचे पर्वत पे, शारदा माँ का डेरा है, मतलब की दुनिया में, सच्चा प्रेम तेरा है, ऊंचे ऊंचे पर्वत पे, मैया का बसेरा है, मतलब की दुनिया में, सच्चा प्रेम…

जगदम्बा के दीवानो को दरश चाहिए भजन लिरिक्स

जगदम्बा के दीवानो को दरश चाहिए भजन लिरिक्स

जगदम्बा के दीवानो को, दरश चाहिए, दरश चाहिए, हमें माँ तेरी एक, झलक चाहिए, झलक चाहिए।। तर्ज – दीवाने है दीवानो को। दया और ममता का मंदिर है तू, तुझे…

काहे घबराता है दिल और काहे उदास है भजन लिरिक्स

काहे घबराता है दिल और काहे उदास है भजन लिरिक्स

काहे घबराता है दिल, और काहे उदास है, मुरलीधर मनमोहना, दिल तेरे पास है, काहें घबराता है दिल, और काहे उदास है।। ढूंढने की उसको क्या है दरकार, सामने खड़ा…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे