साँवरिया आ जाओ थे बेगा आ जाओ भजन लिरिक्स

साँवरिया आ जाओ,
थे बेगा आ जाओ,
मेरी अंखिया तरस रही,
अब और ना तड़पाओ।।

तर्ज – गुरुदेव दया करके।



दुनिया वालों का क्या,

ये तो बेगाने है,
धन दौलत के साथी,
वरना अनजाने है,
दिल रो रो पुकारे तुझे,
अब और ना तड़पाओ,
मेरी अंखिया तरस रही,
अब और ना तड़पाओ।।



मेरी अँखियों में पानी है,

छोटी सी कहानी है,
लूट रही है लाज मेरी,
बाबा तुझे बचानी है,
मेरी लाज बचा जाओ,
बाबा मुझे हसा जाओ,
मेरी अंखिया तरस रही,
अब और ना तड़पाओ।।



जग से नही हारा मैं,

अपनो से हारा हूँ,
चमकुगा एक दिन मैं,
तेरा ही सितारा हूँ,
गोपाल कहे तुमसे,
मेरे दिल में बस जाओ,
मेरी अंखिया तरस रही,
अब और ना तड़पाओ।।



साँवरिया आ जाओ,

थे बेगा आ जाओ,
मेरी अंखिया तरस रही,
अब और ना तड़पाओ।।

Singer – Shruti Sukhija
Writer / Upload – Gopal Ji Goyanka
9991113968


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें