बाबा बुलाजे रे माने खाटू नगरी भजन लिरिक्स

बाबा बुलाजे रे,
माने खाटू नगरी,
खाटू नगरी रे थारी,
श्याम नगरी,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



जयपुर आउ तो,

मारो मन नहीं लागे,
रींगस आउ तो,
ढूंडू थारी नगरी,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



खाटू नगरी में बाबा,

धाम हे थारो,
देश दुनिया में,
डंको बाजे न्यारो,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



दुनिया सु हारो में तो,

थारो सहारो,
भटकत आयो में तू,
अजबत न्यारो,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



थारे भरोसे बाबा,

नाव मारी चाले,
पार लगावो नैया,
डूबतडी पड़ी,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



धरम तंवर थारा,

भजन सुनावे,
खाटू श्याम बाबा,
लीला अजब री,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।



बाबा बुलाजे रे,

माने खाटू नगरी,
खाटू नगरी रे थारी,
श्याम नगरी,
बाबा बुला जे रें,
माने खाटू नगरी।।

गायक / प्रेषक – धर्मेंद्र तंवर।
9829202569


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें